12/28: एक विश्वसनीय सेवक बनो

12/28: एक विश्वसनीय सेवक बनो

  1. अच्छा याद दिलाने के लिए धन्यवाद

  2. धन्यवाद सुशील लीखी जी इस सुंदर संदेश को हमारे साथ बांटने के लिए|

  3. श्री सुशील जी आपका इस खूबसूरत लिफ़्ट के लिए धन्यवाद। आपके लिफ़्ट ने मुझे याद दिलाया है कि हम सब अपने आप को परमेश्वर के विचार के रूप में देखकर हमारी परमेश्वर द्वारा प्रादान प्रतिभाओं को और अधिक व्यवहार में ला सकते हैं। एक विश्वसनीय सेवक बनके हम परमेश्वर से अनगिनत आशीष प्राप्त कर सकते हैं।
    धन्यवाद॥

  4. श्री लिखी जी आपका बहुत बहुत धन्यवाद इतनी अच्छी उदाहरण देकर समझाने के लिए कि किस तरह हम अपनी प्रतिभाओं को व्यवहार में लाकर एक विश्वसनीय सेवक बन सकते हैं और परमेश्वर की आशीषों के पातर बन सकते हैं !

  5. मैं वास्तव में अपनी प्रेरणा को साझा करने के लिए आपका आभारी हूँ.

hide comments-

Add a comment

Characters remaining: 1500
*
 (The email address will not be shown)